Showing posts with label सोहेल खान. Show all posts
Showing posts with label सोहेल खान. Show all posts

fact n fiction : जय हो का पोस्टर यूं बना

जय हो का पोस्टर रिलीज हो गया। पहले तो इसका नाम मेंटल था। लेकिन कुछ घटनाक्रम ऐसे हुए कि इसका नाम बदलकर जय हो रखना पड़ा। हमारे फिक्शन जर्नालिस्ट की रिपोर्ट ने उठाया पूरे मामले से पर्दा।

जानिए कैसे ?

हुआ कुछ यूं। सलमान खान बहुत खुश थे। दस बजे में कुछ मिनट बाकी थे। पोस्टर रिलीज होने वाला था। पोस्टर को लेकर सलमान अपने प्रशंसकों में उत्सुकता जगा रहे थे। शुक्रवार को जैसे ही दस बजे। वैसे ही पोस्टर रिलीज हुआ। सर्वर क्रैश होने की बात सामने आई।

लेकिन बात कुछ और थी। सलमान खान पोस्टर को लेकर नाराज हुए। पोस्टर देखा तो सलमान खान चौक उठे, यह कालिख क्यूं ? मेरे चेहरे पर पोती है। मैं इस ​​फिल्म में कोयला मजदूर थोड़ी हूं। राइट ब्रदर। तुम सही कह रहे हो, सोहेल खान ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा।

जब लोग इस पोस्टर को देखेंगे तो उनको कोयले की याद आएगी। कोयले घोटाले की याद आएगी। वैसे भी अगले साल चुनाव हैं। जनता कांग्रेस के चेहरे पर कालिख पोतेगी।

तुम्हारी फिल्म नहीं चलेगी सोहेल, सलमान बोले। कोई बात नहीं भैया, मैंने सौ करोड़ का इंतजाम कर लिया। सोहेल बड़े आत्मविश्वास के साथ बोले।  सलमान खान चौकते हुए बोला, कैसे ? । सोहेल बोले, मैं कांग्रेस के पास गया। मैंने उनको कहा, मैं आपका जय हो नारा अपनी फिल्म के ​टाइटल के लिए चुन रहा हूं, जिसके आपको अगले चुनावों में फायदा होगा, मुझे सौ करोड़ रुपए दो। लेकिन उसने कंगाली का रोना रोते हुए केवल पचास करोड़ दिए।

अरे छोटे, तो बाकी कि पचास करोड़ कहां से आएंगे, सलमान खान बोले। वो भी इंतजाम हो गया बड़े। मैं उसके बाद भाजपा के पास गया, उनके सामने कालिख पोते वाला कंसेप्ट रखा। मोदी तेज दिमाग के हैं, उनको आइडिया पसंद आया, पचास करोड़ का इंतजाम वहां से हो गया।

वैसे इस महीने बड़े आमिर खान की धूम 3 आ रही है। उम्मीद है कि वह शाहरुख खान का रिकॉर्ड तोड़े, हमको उसका रिकॉर्ड तोड़ना है। डर मत छोटे, नरेगा योजना है। समझा नहीं, बड़े, मतलब सरकार बेरोजगार लोगों को इस योजना के तहत काम देती है, जैसे यशराज बैनर अभिषेक बच्चन व उदय चोपड़ा को, और मैं अरबाज को, तुम आदि।

भैया तुम इस तरह हमारा मजाक उड़ायोगे, मुझे नहीं पता था। छोटे सीरियस मत हो, मैं तो मजाक कर रहा था, वैसे तुम ने भी कालिख पोत कर कम नहीं किया। आदमी तो मैं किसी औरत का नहीं बना सका, तुम ने लोगों को आदमी लिखकर नया ही जुमला बना दिया।