Showing posts with label सन्‍नी दिओल. Show all posts
Showing posts with label सन्‍नी दिओल. Show all posts

रुपहले पर्दे का असली द एंग्री यंग मैन

'ढ़ाई किलो का हाथ, जब उठता है तो आदमी उठता नहीं, उठ जाता है' इस संवाद को सुनते ही एक चेहरा एकदम से उभरकर आंखों के सामने आ जाता है। वो चेहरा असल जिन्‍दगी में बेहद शर्मिला व मासूम है, लेकिन रुपहले पर्दे पर वो हमेशा ही जिद्दी व गुस्‍सैल नजर आया, कभी क्रप्‍ट सिस्‍टम को लेकर तो कभी प्‍यार की दुश्‍मन दुनिया को लेकर। जी हां, मेरी निगाह में रुपहले पर्दे का असली द एंग्री यंग मैन कोई और नहीं बल्‍कि ही मैन धर्मेंद्र का बेटा सन्‍नी दिओल है, जो बहुत जल्‍द एक बार फिर रुपहले पर्दे पर मोहल्‍ला अस्‍सी से अपने दीवाने के रूबरू होने वाला है।

प्रचार व मीडिया से दूर रहकर अपने काम को अंजाम देने वाले दिओल खानदान के इस चिराग ने दिओल परिवार का नाम ऊंचा ही किया है, कभी गिराया नहीं, अच्‍छे बुरे वक्‍त से गुजरते हुए सन्‍नी ने फिल्‍म जगत में करीबन तीन दशक पूरे कर लिए हैं। इतने लम्‍बे कैरियर में सन्‍नी को अब तक दो राष्ट्रीय पुरस्कार और फिल्‍मफेयर पुरस्कार मिल चुके हैं। मगर आज भी बॉलीवुड में उनका हमउम्र हीरो उतना कदवार नहीं है, जितना के सन्‍नी दिओल।

गत साल 19 अक्‍टूबर को 55 साल पूरे कर चुके सन्‍नी ने साल 1983 में फिल्‍म ‘बेताब’ से अपनी फिल्‍मी करियर शुरुआत की। कहते हैं कि सन्‍नी ने इग्‍लैंड जाकर बकायदा अभिनय की ट्रेनिंग ली और उसके बाद फिल्‍मों का रुख करने का फैसला किया। शायद यही कारण है कि सन्‍नी ने रुपहले पर्दे पर अपने किरदारों को जीवंत कर दिया।

सन्‍नी दिओल ने अपने इतने लम्‍बे कैरियर में बहुत सी बेहतरीन फिल्‍में दी हैं, मगर उनकी कुछ फिल्‍में तो ऐसी हैं, जिनको फिल्‍म जगत व सिने दर्शक कभी नहीं भूल पाएंगे, जैसे कि ‘बेताब’ ‘सोहनी महिवाल’ ‘डकैत’ ‘निगाहें’ ‘वर्दी’ ‘जोशीले’ ‘त्रिदेव’ ‘चालबाज’ ‘घायल’ ‘नरसिम्‍हा’ ‘दामिनी’, ‘विश्‍वात्‍मा’ ‘लुटेरे’ ‘क्षेत्रिय’ ‘वीरता’ ‘डर’ ‘इंसानियत’ ‘इम्‍तिहान’ ‘जीत’ ‘घातक’ ‘जिद्दी’ ‘बॉर्डर’ ‘सलाखें’ ‘इंडियन’ ‘गदर-एक प्रेम कथा’ ‘अर्जुन पंडित’ ‘अपने’, और ‘यमला पगला दीवाना’ जैसी कई यादगार फिल्‍में हैं।

सन्‍नी ने अपनी करियर में ज्‍यादातर एक्शन किरदार ही निभाए हैं लेकिन पिछले साल आई फिल्‍म ‘यमला पगला दीवाना’ में सन्‍नी का कॉमेडी अंदाज भी लोगों को बेहद पसंद आया। फिल्‍म का निर्माण देओल परिवार के बैनर तले ही हुआ। फिल्‍मी कैरियर में कई उतार चढ़ाव देख चुके सन्‍नी दिओल रुपहले पर्दे पर अपने चाहने वालों के समक्ष इस साल मोहल्‍ला अस्‍सी व घायल रिटर्न्‍स लेकर हाजिर होंगे। ऐसे में उम्‍मीद है कि घायल रिटर्न्‍स में सन्‍नी दिओल का पुराना रूप देखने को मिलेगा, जिसको देखकर लगता है रुपहले पर्दे का असली द एंग्री यंग मैन।