Showing posts with label विश्‍वरूपम. Show all posts
Showing posts with label विश्‍वरूपम. Show all posts

कमल हसन का नया फंडा

सिने यात्रियों से अपील है कि लिएंडर पेस द्वारा चलाई जा रही राजधानी एक्‍सप्रेस में यात्रा करना बेहद घातक सिद्ध हो सकता है। अगर सिने यात्री इस वीएंड पर कहीं समय बतीत करना चाहते हैं तो उनके लिए परेश रावल एवं रंजीव खंडेलवाल का टेबल नम्‍बर 21 सुविधा जनक साबित हो सकता है।

और अगले हफ्ते पर्दे पर विश्‍वरूपम लेकर कमल हसन हाजिर हो रहे हैं। मगर वो इस बार नया तुजुर्बा करने जा रहे हैं। इस फिल्‍म को रिलीज करने से पूर्व इस फिल्‍म को डिश टीवी के बैनर तले प्रसारित किया जाएगा। यह अपने आप में एक नया तुजुर्बा है। कमल हसन मानते हैं कि ऐसा करने से नकली सीडी एवं डीवीडी बाजार पर नकेल कसी जा सकती है, हालांकि कमल हसन के इस प्रयोग से सिनेमा मालिक थोड़ा सा दुखी हैं। मगर कमल कहते हैं कि जो उनके असली दीवाने हैं, वो सिनेमा घरों में दस्‍तक देंगे।

5 जनवरी, 2013 तक बुक कराने वाले ग्राहक ‘विश्‍वरूपम’ का तमिल संस्करण 1000 रु में देख सकते हैं जबकि इसके बाद के ऑर्डर पर, सिंगल शो के लिए 1200 रु खर्च करने होंगे। हिंदी और तेलुगू संस्करणों का खर्च 500 रु है। ऐसा पहली बार होगा कि सिने प्रेमियों को नई मूवी देखने के लिए सिनेमा घर तक जाने की तकलीफ नहीं उठानी पड़ेगी।

तमिलनाडू फिल्‍म डिस्‍ट्रीब्‍यूटर्स एसोसिएशन ने कमल हसन के इस फैसले का पुरजोर विरोध करते हुए चेताया है कि अगर वो ऐसा करेंगे तो उनकी फिल्‍म को रिलीज नहीं किया जाएगा। इसके अलावा तामिलनाडू में मुस्‍लिम सुमदाय ने कमल हसन का विरोध करना शुरू कर दिया, उनका मानना है कि कमल हसन की इस फिल्‍म से मुस्‍लिमों की छवि समाज में बिगड़ सकती है।