Posts

Showing posts with the label रक्षा बंधन

रक्षा बंधन : वक्‍त मिले तो सोचिएगा

Image
रक्षा बंधन। रक्षा का वचन। हिन्दू श्रावण मास (जुलाई-अगस्त) के पूर्णिमा के दिन मनाया जाने वाला यह त्योहार भाई का बहन के प्रति प्यार का प्रतीक है। इस दिन बहन अपने भाई की कलाई पर एक धागा बांधती है। रक्षा का वचन लेते हुए बहन भाई की तरक्‍की की कामना भी करती है। यकीनन, उसके भावी पति के लिए भी कोई बहन इस दिन दुआ कर रही होगी। रक्षा बंधन से कई कहानी जुड़ी हैं, रानी कर्णावती व सम्राट हुमायूं, सिकंदर की पत्‍िन व राजा पौरस की, श्रीकृष्‍ण भगवान और द्रोपदी की। दिलचस्‍प बात तो यह है कि इन सब में खून का रिश्‍ता नहीं, बल्‍कि एक धागे का रिश्‍ता, भरोसे, भावनाओं का रिश्‍ता था।
कहानियों के मुताबिक शिशुपाल के वध के समय भगवान कृष्ण की उंगली कट गई थी तब द्रौपदी ने अपनी साड़ी का आंचल फाड़कर कृष्ण की उंगली पर बांध दिया। इस दिन सावन पूर्णिमा की तिथि थी। भगवान श्रीकृष्ण ने द्रौपदी को वचन दिया कि समय आने पर वह आंचल के एक-एक सूत का कर्ज उतारेंगे। द्रौपदी के चीरहरण के समय श्रीकृष्ण ने इसी वचन को निभाया। यहां तक ही नहीं, भगवान ने तो महाभारत में भी पांडवों का पूरा साथ दिया।
सिकंदर को अगर दुनिया में कोई टक्‍कर दे …

रक्षा बंधन के रंग में रंगे कुछ ब्लॉग आपकी नज़र

आज रक्षा बंधन है, तो स्वाभिक है कि हमारे ब्लॉग लेखक इस त्यौहार पर अपनी अभिव्यक्ति व्यक्त करने से कैसे पीछे रह सकते हैं। अखबारों से लेकर टेलीविजन तक हर जगह रक्षा बंधन की बातें हो रही हैं। तो ऐसे में हमारा ब्लॉग जगत कैसे पीछे रहेगा, जी हां, हमारे इस जगत के कुछ लेखकों ने अपने अपने ढंग से रक्षा बंधन के मौके पर कुछ कुछ अभिव्यक्ति व्यक्त की हैं। जो मैं इस पोस्ट के जरिए आपके पास भेज रहा हूं। अगर कोई ब्लॉग पढ़ने से छुट गया हो तो अब पढ़ लीजिए, कोई बहाना मत कीजिए। रक्षा बंधन के पलों के साथ जिन्दगी को हसीन ढंग से जीजिए।...

मेरी प्यारी बहना

//कच्चे कचनार के नीचे खड़े भाई खूब याद आते हैं... उस छोटी दुनिया में बड़ी खुशियाँ हासिल थी जहाँ हमे..//

एक राखी ऐसी भी थी

राखी का गीत -आचार्य संजीव 'सलिल'

राखी ...!!!!

मेरे भैया - राखी के इस पावन अवसर पर

एक आध्यात्मिक बंधन- रक्षा बंधन

अटूट विश्वास का बन्धन है राखी

मेरी बहन तु सलामत रहे

बहना मेरी राखी के बंधन को निभाना

अटूट विश्वास का बंधन है राखी

रक्षा बंधन पर एक कार्टून !

याद जो तेरी आई बहना !!