Showing posts with label मौत. Show all posts
Showing posts with label मौत. Show all posts

मेरी मौत की खबर

मैं शिकार हो गया अपनों के ही धोखे का,
न करें इंतजार वो अब किसी मौके का,
मेरी मौत के चश्मदीदों, एक फजल कर दो
मेरे दुश्मनों को मेरी मौत की खबर कर दो

रुक गई सांस और शब्दों का कारवां
मैं धोखों की आंधी में हो गया फनां
मेरी मौत के चश्मदीदों, एक फजल कर दो
मेरे दुश्मनों को मेरी मौत की खबर कर दो

वक्त की साजिश, हुआ एक बड़ा हादसा
पल में रेत हो गया 'हसरतों का बादशाह'
मेरी मौत के चश्मदीदों, एक फजल कर दो
मेरे दुश्मनों को मेरी मौत की खबर कर दो

दुश्मन न मार सके, बस एक तन्हाई ने मारा
जान ली उसने, जो था हैप्पी जान से प्यारा
मेरी मौत के चश्मदीदों, एक फजल कर दो
मेरे दुश्मनों को मेरी मौत की खबर कर दो