Showing posts with label मलाला युसुफजई. Show all posts
Showing posts with label मलाला युसुफजई. Show all posts

मलाला को 'राष्‍ट्र की बेटी' खिताब से सम्‍मानित करने की मांग

-:वाइआरएन सर्विस:-

9 अक्तूबर 2012 को उत्तर-पश्चिमी पाकिस्तान के स्वात घाटी के मिंगोरा गांव में तालिबानी चरमपंथियों की गोली का निशाना बनी मलाला युसुफ़ज़ई को पाकिस्तान की राष्ट्रीय असेंबली ने सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित कर 'पाकिस्तान की बेटी' के सम्मान से नवाज़े जाने की मांग की है।

इससे पूर्व पाकिस्‍तान राष्‍ट्रपति आसिफ अली जरदारी ब्रिटेन के अस्पताल में उपचाराधीन मलाला से मुलाकात की। इसके साथ ही उन्‍होंने लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए मलाला एजुकेशन फंड स्‍थापित करने की घोषणा की। इसके अलावा उधर लंडन में ब्रिटिश लेबर पार्टी के सांसद खालिद महमूद ने सरकार से अपील की है कि नॉबेल पुरस्‍कार के लिए मलाला को नामांकित किया जाए। नॉबेल पुरस्‍कार हेतु चलाए गए हस्‍ताक्षर मिशन के दौरान करीबन तीन लाख लोगों ने हस्‍ताक्षर किए।

इधर, पाकिस्‍तान असेंबली में मलाला को राष्‍ट्र पुत्री का सम्‍मान देने हेतु प्रस्ताव पाकिस्तान पीपल्स पार्टी की सदस्य रोबिना सादत क़ैमख़ानी द्वारा प्रस्तुत किया गया है।

गौरतलब है कि तालिबान चरमपंथियों द्वारा किए गए हमले में मलाला के सिर और गले में गोलियां लगी थी। 15 अक्टूबर को मलाला को उपचार के लिए पाकिस्‍तान से ब्रिटेन पहुंचाया गया। मलाला ने बीबीसी उर्दू के लिए डायरी लिखने का कार्य करीबन तीन साल पूर्व शुरू किया था। मलाला ने पाकिस्‍तान के स्‍वात घाटी इलाके में लड़कियों को शिक्षा दिलाने के लिए अभियान छेड़ा था। यह इलाका तालिबान के कब्‍जे में है।