Showing posts with label भगवत गीता. Show all posts
Showing posts with label भगवत गीता. Show all posts

बयान बवालों से 'बुद्धम् शरणम् गच्छामि' की गूंज तक - साप्‍ताहिक हलचल

रविवार, 6 जनवरी 2013।  इसी के साथ नव वर्ष के प्रथम छह दिन खत्‍म होने जा रहे हैं। बीते सप्‍ताह के दौरान ज्‍यादा सुर्खियां बयानों को लेकर हुए बवालों पर बनी। अगर अंतर्राष्‍ट्रीय समाचारों की बात की जाए तो दो से अधिक सप्‍ताह बाद संडी हूक्‍स स्‍कूल के बच्‍चे जहां एक बार फिर स्‍कूल लौटे तो वहीं दूसरी तरफ तालिबानियों की गोली का निशान बनी मलाला को अस्‍पताल से छुट्टी मिल गई। अंत अमरीका में टैक्स की बढ़ोत्तरी एवं सरकारी खर्चों में कटौतियों के मसले पर 'फ़िस्कल क्लिफ़' नामक' प्रस्ताव को अमरीका के दोनों सदन ने मंजूरी दे दी है, जो प्रस्ताव राष्ट्रपति ओबामा के लिए गले की फांस बन गया था। इसके अलावा भारतीय मूल की अमेरिका में कांग्रेस के लिए निर्वाचित पहली हिन्दू तुलसी गैबर्ड ने पवित्र भगवद् गीता पर हाथ रखकर पद एवं गोपनीयता की शपथ ली। तुलसी (31) को प्रतिनिधि सभा के स्पीकर जॉन बोहनर ने शपथ दिलाई। दाऊद इब्राहिम के समधि को भारत वीजा मिलने पर भारत में हुआ विरोध एवं अंत वीजे को कैंसल करना पड़ा। मियांदाद भारत में चल रही अंतर्राष्‍ट्रीय वनडे क्रिकेट सीरीज देखने के लिए आने वाले थे, जो भारत पाकिस्‍तान को 2-0 के फर्क से हार चुका है एवं आज इस सीरीज का अंतिम एवं तीसरा मैच खेला जाएगा।

नव वर्ष का आरंभ दिल्‍ली गैंगरेप से जुड़ी सुर्खियों से हुआ। इस मामले में शशि थरूर के उस बयान को लेकर राजनीतिक हलकों में बहस छिड़ गई, जिसमें उन्‍होंने कहा था कि गैंग रेप पीड़ित के नामों को उनके माता पिता की अनुमति से सार्वजनिक किया एवं उसके नाम पर नए बनने वाले कानून का नाम रखा जाए। इसके बाद बयान के चलते मुस्‍लिम नेता औवेसी का विवाद शुरू हुआ। उनका यह विवाद उनके बेहद भड़काऊ भाषण से जुड़ा हुआ है। उनके खिलाफ शबनम हाशमी ने कार्रवाई करने के लिए संबंधित विभागों को पत्र लिखा। सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार की उस अपील को खारिज करते हुए लोकायुक्‍त आरए मेहता की नियुक्‍ित को सही ठहराया, जिसमें लोकायुक्‍त की नियुक्‍ित पर एतराज उठाया गया था।

संघ नेता मोहन भागवत एवं भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने महिलाओं के प्रति ऐसी टिप्‍पणियां की जो बेहद चिंताजनक एवं विवादित थी। जहां भागवत ने कहा कि बलात्‍कार इंडिया में होते हैं भारत में नहीं, वहीं कैलाश ने कहा, अगर महिलाएं लांघेगी अपनी मर्यादा तो रेप होना पक्‍का है। इस बयान के बाद भाजपा ने कैलाश विजयवर्गीय को माफी मांगने के आदेश दिए, लेकिन मोहन भागवत के बयान पर बीजेपी केवल इतना कह पाई, उनके कहने का वो अर्थ नहीं था, जो मीडिया ने पेश किया। आख़िर भाजपा ऊंचे सुर में मोहन भागवत के साथ कैसे बात करती, क्‍यूंकि इसकी जान तो संघ तोते में है। उधर, डीएमके के प्रमुख करुणानिधि ने अपने छोटे बेटे स्‍टालिन को उत्‍तराधिकारी बनाने के संकेत दिए तो बड़े बेटे एमके अलागिरी ने कहा, यह कोई मठ नहीं, जिसका उत्‍तराधिकारी घोषित किया जाए। वहीं राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से अलग हुए पीए संगमा ने अपनी नई पार्टी नेशनल पीपल्‍स पार्टी का गठन कर दिया।

शनिवार देर रात इंडियन ऑयल कारपोरेशन के हजीरा गुजरात स्थित संयंत्र में एक तेल भंडारण टैंकर में आग लग गई और देखते ही देखते तेजी से फैल गयी। इस घटनाक्रम में करीबन 2:30 करोड़ तेल जलकर नष्‍ट होने की सूचना मिली है। 200 करोड़ से अधिक रुपए के नुकसान होने की आशंका जताई जा रही है।

दबंग टू ने जहां बॉक्‍स ऑफिस पर सौ करोड़ रुपए से ऊपर कलेक्‍शन किया, वहीं अक्षय कुमार एवं परेश रावल अभिनीत ओह माय गॉड ने सिनेमा खिड़की पर अपने सौ दिन का सफर पूरा किया। पिछले हफ्ते रिलीज हुई राजधानी एक्‍सप्रेस पटड़ी से उतर गई जबकि परेश रावल के टेबल नं 21 को फिल्‍म समीक्षकों ने देखने लायक बताया। देहरादून डायरी सिने खिड़की पर आई, लेकिन सिने प्रेमियों ने कोई रुचि तक नहीं ली। अगले हफ्ते रिलीज होने वाले विश्‍वरूपम उस समय विवादों में घिर गई, जब कमल हसन ने इस फिल्‍म को रिलीज से पहले डीटीएच पर रिलीज करने की घोषणा की एवं इस फिल्‍म को लेकर मुस्‍लिम समुदाय ने भी अपना एतराज दर्ज करवाया।

अंत में दिल्‍ली गैंग रेप मामले पर लौटते हुए बताना चाहेंगे। इस हफ्ते इस मामले पर रही मीडिया की गहरी निगाह। ब्‍लैकमेलिंग मामले में जमानत पर रिहा हुए जी न्‍यूज संपादक सुधीर चौधरी ने हादसे के शिकार युवक का लाइव इंटरव्‍यू दिखाकर खुद को एक बार फिर चर्चा का केंद्र बनाया। कुछ लोग कह रहे हैं कि सुधीर चौधरी अपने दाग धोना चाहते हैं। फिलहाल दिल्ली गैंगरेप मामले में वॉरंट जारी कर दिए गए हैं एवं सोमवार को पेश होंगे 5 आरोपी।

केबीसी में मुम्‍बई की सनमीत कौर साहनी ने पांच करोड़ जीतकर सुखद समाचारों की सीरीज का आगाज किया तो पाटलिपुत्र में 'बुद्धम् शरणम् गच्छामि' की गूंज भी सुनाई देने लगी, क्‍यूंकि यहां पर तीन दिवस तक चलने वाले अंतरराष्ट्रीय बौद्ध संघ समागम का शुभारम्‍भ हो चुका है। इसमें बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा स्‍वयं उपस्‍थित हैं।