Showing posts with label बॉलीवुड. Show all posts
Showing posts with label बॉलीवुड. Show all posts

बॉलीवुड रिपोर्ट बनाम बॉक्‍स ऑफिस 2012

इंडिया में दो चीजें बेहद पापुलर हैं एक क्रिकेट और दूसरा मूवीज। दोनों को देखने के लिए भारतीय दर्शक उतावले रहते हैं। सलमान ख़ान की दबंग 2 के साथ बॉलीवुड 2012 के बही ख़ाते को बंद करने जा रहा है। साल 2012 में रिलीज हुई फिल्‍मों में सलमान ख़ान की 'एक था टाइगर' बॉलीवुड में सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्‍मों में शुमार है एवं पहले दिन बॉक्‍स ऑफिस 32 करोड़ रुपए एकत्र करने का रिकॉर्ड भी इसी के नाम दर्ज हुआ, लेकिन पूरे साल भर की एकत्र राशि करने में अक्षय कुमार सबसे आगे रहे क्‍यूंकि अक्षय कुमार ने इस साल फिल्‍म निर्माताओं को चार सौ करोड़ से भी अधिक रुपयों का कलेक्‍शन करके दिया।

अक्षय कुमार, सलमान ख़ान के अलावा इस साल बॉक्‍स ऑफिस पर गंभीर दिखने वाले अजय देवगन ने भी काफी धमाल मचाई। अजय देवगन की बोल बच्‍चन ने जहां 100 करोड़ के क्‍लब में एंट्री मारी, वहीं सन ऑफ सरदार सौ करोड़ से कुछ कदम पीछे ठहर गई, लेकिन फिर भी यह फिल्‍म भारतीय सर्वाधिक कलेक्‍शन करने वाली फिल्‍मों की टॉप टेन सीरिज में है।

इस साल रिलीज हुई शाहरुख़ ख़ान की जब तक है जान ने बॉक्‍स ऑफिस पर सौ करोड़ से अधिक कलेक्‍शन की, लेकिन उतना जादू न दिखा सकी, जितने की इस फिल्‍म से उम्‍मीद थी। कुछ ऐसा ही हश्र हुआ, आमिर ख़ान की तलाश का भी। पिछले साल रॉकस्‍टार बनकर बॉक्‍स ऑफिस पर धूम मचाने देने वाले रणबीर कपूर ने बर्फी के जरिए जहां सिने खिड़की पर अच्‍छी कलेक्‍शन की, वहीं समीक्षकों से भी काफी वाहवाही लूटी। कुछ ऐसा ही हुआ, ऋतिक रोशन के साथ, जो इस साल फिल्‍म अग्‍निपथ में नजर आए। सिने खिड़की पर दर्शक भी मिले, और समीक्षकों ने भी खूब सराहा।

इस साल कुछ ऐसी फिल्‍में भी रिलीज हुई, जिन्‍होंने सौ करोड़ तो नहीं कमाया, लेकिन दर्शकों को वाह वाह कहने पर मजबूर कर दिया। इनमें सबसे ऊपर है, ओह माय गॉड, पान सिंह तोमर, कहानी, विक्‍की डॉनर,  इश्‍कजादे, इंग्‍लिश विंग्‍लिश आदि।

कुछ ऐसी फिल्‍में थी, जिन्‍होंने बॉक्‍स ऑफिस दर्शकों को खींचा, और धन कमाया। इन फिल्‍मों में तलाश, खिलाड़ी 786, कॉकटेल, गैंग्‍स वासेपुर, जन्‍नत, क्‍या सुपर कूल हैं हम, राज 3, स्‍टूडेंट ऑफ द ईयर, रिटर्न इविल 1920, जन्‍नत टू एवं तेरे नाम लव हो गया आदि शामिल हैं।

कुछ ऐसी फिल्‍में थी, जिन्‍होंने दर्शकों के अंदर जिज्ञासा तो जगाई, लेकिन दर्शकों संतुष्‍ट नहीं कर पाईं। इन फिल्‍मों में प्‍लेयर्स, तेज, विनोद एजेंट, लंडन पेरिस न्‍यूयार्क, ब्‍लड मनी, बिट्टू बॉस, डेंजर्स इशक, डिपार्टमेंट, तेरी मेरी कहानी, जिस्‍म 2, जोकर, हीरोइन, कमाल धमाल मालामाल, चक्रव्‍यूह, भूत रिटर्नस आदि शामिल हैं।

सौ करोड़ से अधिक कमाने वाली फिल्‍मों में सबसे ऊपर सलमान ख़ान की एक था टाइगर, दूसरे नम्‍बर अक्षय कुमार की राउड़ी राठौड़, तीसरे पर ऋतिक रोशन की अग्‍निपथ, चौथे पर अक्षय कुमार की हाऊस फुल 2, पांचवें नम्‍बर पर रणबीर कपूर की बर्फी, छठे नम्‍बर पर शाहरुख ख़ान की जब तक है जान, सातवें नम्‍बर पर आज देवगन की बोल बच्‍चन है।

चलेगी सलमान ख़ान की दबंगिरी

-: वाईआरएन सर्विस :-
इस साल की मेगा बजट एवं अंतिम फिल्‍म दबंग 2 बॉक्‍स ऑफिस पर इतिहास बनाने में सफल रहेगी। बॉलीवुड पर निगाह रखने वाले जी-ईटीसी बॉलीवुड ने अपने टि्वटर खाते पर लिखा है कि पूरे भारत में इस फिल्‍म के शाम के शो पूरी तरह पहले से हाऊसफुल हैं, इतना ही नहीं सलमान ख़ान की लोकप्रियता को देखते हुए सिनेमा मालिकों ने टिकटों रेटों में भी इजाफा किया है। एक था टाइगर के वक्‍त भी ऐसा ही हुआ था।

फिल्‍म दबंग टू की फिल्‍म समीक्षा को लेकर सभी फिल्‍म समीक्षक अलग अलग राय रखते हैं, लेकिन सलमान ख़ान की उपस्‍थिति होने के कारण फिल्‍म के हिट होने की गारंटी जरूर दे रहे हैं। हिन्‍दी वेबदुनिया के फिल्‍म समीक्षक समय ताम्रकर एक जगह लिखते हैं, 'दबंग 2 एक तरह से दबंग का ही रीमेक है। इसमें नया कुछ नहीं है। दरअसल यह फिल्म उन लोगों के लिए है जिन्हें चुलबुल की चुलबुली हरकतें पसंद हैं'। सोनाक्षी सिन्‍हा के बारे में लिखते हैं कि चुलबुल की बुलबुल सोनाक्षी सिन्हा बीच-बीच में कपड़े सुखाती रहती हैं, जिससे पता चलता रहता है कि वे भी फिल्म में हैं।

एनडीटीवी ख़बर पर प्रशांत सिसोदिया फिल्‍म की समीक्षा करते हुए लिखते हैं कि शुरू के करीब 15 मिनट की फिल्म देखकर लगा कि बॉलीवुड में भी एक रजनीकांत का जन्म हो गया है, यानी सलमान खान, जिन्हें दर्शक किसी भी रूप में पसंद करते हैं और उनके लिए तालियां और सीटियां बजाते हैं, पर यह कहना जरूरी है कि फिल्म सिर्फ और सिर्फ सलमान खान की है। कहानी में कोई नयापन नहीं है। गाने अच्छे हैं, लेकिन कहानी के साथ पिरोए नहीं गए। हालांकि जितने अच्छे डायलॉग 'दबंग' के थे, उतने 'दबंग-2' के नहीं हैं। हां, चुलबुल पांडे के किरदार को थोड़ा और तराशा गया है। चुलबुल और उनके पिता बने विनोद के साथ कुछ अच्छे सीन्स और खूबसूरत लम्हे दिखाए गए हैं।

हिन्‍दी डॉट इन डॉट कॉम पर फिल्‍म की समीक्षा करते हुए लिखते हैं कि कुछ छोटी बातों को छोड़ दें तो यह फिल्म काफी मनोरंजक है और पांडे जी मल्टीप्लेक्स में काफी सीटी बटोरेंगे। ‘दबंग 2’ आपको कहीं भी बोर नहीं होने देती, पर अपने पहले भाग के बराबर नहीं कही जा सकती।

युवा रॉक्‍स व्‍यू - एक था टाइगर में कुछ नहीं था, फिर भी दो सौ करोड़ से ऊपर की कमाई करने में सफल रही, यह तो फिर भी सलमान की कॉमेडी कम एक्‍शन फिल्‍म है, जिस पर पैसे खर्च करने के बाद दर्शक ज्‍यादा नहीं तो यह तो कहेंगे पैसा वसूल।

उधर, फिल्‍म निर्देशक कुणाल कोहली अपने टि्वटर खाते पर लिखते हैं कि हॉलीवुड हेज स्‍पाइडरमैन, सुपरमैन, बट बॉलीवुड हेज सलमान। कुल मिलाकर कहें तो सलमान ख़ान के साथ किस्‍मत है, और जिसके साथ किस्‍मत है, वो किसी को भी मात दे सकता है।

लिएंडर पेस की 'राजधानी एक्‍सप्रेस' 4 को पहुंचेगी खिड़की पर

-: वाईआरएन सर्विस :-

टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस की 'राजधानी एक्‍सप्रेस' चलने के लिए तैयार है। इसकी पहली झलक कल मुम्‍बई में देखने को मिली, लेकिन इस मौके पर लिएंडर पेस नहीं दिखाई पड़े। सूत्रों की मानने तो वह कोलकाता थे, और फ्लाइट लेट होने के कारण मुम्‍बई में आयोजित समारोह में नहीं पहुंच पाए।

'राजधानी एक्‍सप्रेस' से अपने अभिनय की शुरू करने वाले लिएंडर पेस की 'राजधानी एक्‍सप्रेस' अगले साल 4 जनवरी को रिलीज होने जा रही है। अशोक कोहली के निर्देशन में बनी 'राजधानी एक्सप्रेस' में जिमी शेरगिल, प्रियांशु चटर्जी एवं गुलशन ग्रोवर भी नजर आएंगे।

इस फिल्‍म में नजर आने वाली अभिनेत्री सयाली भगत ने मशहूर टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस की 'राजधानी एक्सप्रेस' में उनके अभिनय की प्रशंसा की है। सयाली ने फिल्म की पहली झलक के प्रदर्शन के मौके पर कहा कि लिएंडर पेस बहुत मेहनती इंसान हैं। मैंने उनके साथ जितने भी दृश्य फिल्माए हैं, उनके लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की।

फिल्‍म में गनमैन का किरदार निभा रहे पेस का नाम केशव है। जो बंदूक पहुंचाने के लिए दिल्ली-मुंबई राजधानी में सवार होता है। इसके बाद घटनाक्रम तेजी से बदलता और रोमांच, थ्रिलर एवं सस्पेंस के सहारे आगे बढ़ता है।

पहले मां बनो, फिर बनो पत्‍नी

टोटोपाडा के जंगल से बॉलीवुड तक | हम नया कुछ नहीं करते, हम पुराने को तरीकों फिर से दोहराते हैं, लेकिन ख़बरों में आने के बाद वो नया सा लगने लगता है चाहे वो योग या फिर लिव इन रिलेशन का कनेक्‍शन।

भारत भूटान सीमा पर एक टोटोपाडा नामक ऐसी जगह है, जहां आज भी शादी से पहले लड़की को गर्भवती होना पड़ता है। कहते हैं कि टोटो जनजाति समुदाय के लड़के को जो लड़की पसंद आती है, वो उसके साथ फरार होता है एवं लड़का लड़की एक साथ रहते हैं, कुछ महीनों बाद जब लड़की गर्भधारण कर लेती है तो लड़की को शादी के काबिल माना जाता है। भले ही हम हिन्‍दी फिल्‍मों में कुछ महिलाओं को त्रासदी झेलते देखते हैं, जब वो अपने प्रेमी से कहती हैं, जोकि फिल्‍म में विलेन है, लेकिन लड़की के लिए प्रेमी, मैं तुम्‍हारे बच्‍चे की मां बनने वाली हूं।
मगर बॉलीवुड की कहानी भी रुपहले पर्दे से बेहद अलग है, जहां बहुत सी अभिनेत्री हैं, जो टोटोपाडा की प्रथा को बॉलीवुड में स्‍थापित कर चुकी हैं। ख़बरों की मानें तो बॉलीवुड की सदाबाहर अभिनेत्री श्रीदेवी ने बोनी कपूर से उस समय शादी की थी, जब वह करीबन सात माह की गर्भवती थी।

परदेस से बॉलीवुड में प्रवेश करने वाली महिमा चौधरी ने अपने गर्भवती होने की रिपोर्ट देकर सब को चौंका ही दिया था, क्‍यूंकि रितु से महिमा बनी परदेस गर्ल ने कब शादी कर ली, मीडिया तक को ख़बर नहीं थी, ख़बर तब हुई, जब महिमा चौधरी ने कहा, मैं गर्भवती हूं। कहते हैं कि कईयों के साथ अफेयर को लेकर चर्चाओं में रही महिमा चौधरी ने चुपके से बॉबी मुखर्जी को अपना बना लिया।

श्रुति हसन, जिसके अभी तक रुपहले पर्दे पर कदम नहीं जम सके, के होने से पूर्व उनकी माता सारिका ठाकुर का कमन हसन के साथ लव चल रहा था, जिसको लेकर कमल हसन की पहली बीवी बेहद परेशान थी। इस दौरान सारिका ने श्रुति हसन को जन्‍म दिया, जिसके बाद कमल हसन ने सारिका से शादी की एवं कुछ सालों बाद दोनों अलग हो गए।

लीक से हटकर एवं गम्‍भीर अभिनय के लिए जानी जाने वाली अभिनेत्री कोंकणा सेन शर्मा ने सितम्‍बर 2010 में अभिनेता रणवीर शौरी से शादी की एवं अगले साल मार्च में एक बच्‍चे को जन्‍म दिया। इससे यह बात तो स्‍पष्‍ट होती है कि कोंकणा सेन शादी से पूर्व गर्व धारण कर चुकी थी।

लगता है कि टोटोपाडा से निकलकर बॉलीवुड में घुस चुकी प्रथा, अब धीरे धीरे मैट्रो सिटी में भी प्रवेश करने से भी नहीं हिचकाएगी। कुछ शहरों में तो ऐसा हो भी रहा है, लेकिन इज्‍जत न चली जाए के कारण सामने नहीं आते, बॉलीवुड में तो ख़बर रुकती नहीं। वहां तो दुष्‍प्रचार भी पब्‍लसिटी के लिए हिट फार्मूला है।