Showing posts with label जलाल देखा. Show all posts
Showing posts with label जलाल देखा. Show all posts

जलाल देखा

आज कई दिनों के बाद
तेरे चेहरे पे खुशी का जलाल देखा

ए बिछोह के सुल्तान
फिर तेरे मनांगन को खुशहाल देखा

तुम खुश क्या हुए
हकीकत में बदलता हुआ ख्याल देखा

तेरे चेहरे का नूर देख
दुश्मनों के लबों पर आया सवाल देखा

लौटी तेरे घर खुशी
हैपी ने आँख से कुदरत का कमाल देखा