Showing posts with label केशुभाई पटेल. Show all posts
Showing posts with label केशुभाई पटेल. Show all posts

'मोदीनु माफिया राज' पुस्‍तक बाजार में

-:वाईआरएन सर्विस:-

गुजरात विधान सभा चुनाव 2012 का प्रथम दौर आज संपन्‍न हुआ जबकि दूसरे दौर के लिए मतदान 17 दिसम्‍बर को होने वाला है। इसी दौरान मुख्‍यमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को जनता में बिगाड़ने के लिए कुछ व्‍यक्‍तियों ने 'मोदीनु माफिया राज' नामक पुस्‍तक को बाजार में धकेल दिया।

इसके कवरपेज पर घबराहट वाले नरेंद्र मोदी, और दूसरी तरफ इनसेट में उनकी कथित पत्‍नी यशोद्धाबेन मोदी की पिक्‍चर लगाई है। इसके नीचे रोष प्रदर्शनों की फोटो को मिक्‍स कर प्रकाशित किया गया है। इस किताब के अंतिम पेज पर उन भाजपा नेताओं की तस्‍वीरें हैं, जो भाजपा को छोड़कर चले गए। इस किताब में नरेंद्र मोदी की तुलना दाऊद अब्राहिम से की गई है, जिनके आईक्‍यू को लेकर भाजपा अध्‍यक्ष नितिन गड़करी मुश्किल में आ गए थे।

इस पुस्‍तक पर प्रकाशक के तौर पर गुजरात महासंघ, प्रमुख सवाई मार्ग, संस्‍कार सोसायटी के समीप, सुरेंद्रनगर गुजरात लिखा है, और यह किताब नरेंद्र मोदी के चुनाव क्षेत्र मणिनगर में खूब धड़ल्‍ले से सप्‍लाई हो रही है।

गुजरात विस चुनाव का प्रथम चरण संपन्‍न, 68 फीसद मतदान

-:वाईआरएन सर्विस:-
 
गुरूवार सुबह आठ बजे से लेकर शाम पांच बजे तक सौराष्‍ट्र, दक्षिण गुजरात और अहमदाबाद जिले की चार विधान सभा सीटों पर पहले दौर का मतदान संपन्‍न हुआ। पहले दौर के मतदान में 87 विधान सभा सीटों पर लगभग 68 फीसद मतदान हुआ।

राजनीतिक जानकारों की माने तो दक्षिण गुजरात की पांच एवं सौराष्‍ट्र की 48 सीटों पर गुजरात परिवर्तन पार्टी का प्रभुत्‍व है। इस पार्टी का गठन गुजरात के पूर्व मुख्‍यमंत्री केशुभार्इ पटेल द्वारा किया गया है, जो भाजपा से इस लिए अलग हो गए थे, क्‍यूंकि नरेंद्र मोदी का बढ़ा प्रभुत्‍व उनकी छवि को पीछे धकेल रहा था।

इस क्षेत्र के नतीजे यह तय करेंगे कि आख़िर किस की साख़ ज्‍यादा मजबूत है एक मुख्‍यमंत्री की या एक पूर्व मुख्‍यमंत्री की, जो एक बड़ी पार्टी को छोड़कर अपने दम पर चुनाव लड़ रहे हैं।