Posts

Showing posts from October, 2014

अब ट्विटर पर सुनिए मनपसंद गाने

वॉशिंगटन । 140 कैरेक्टर्स में आपके विचारों को समेटनेवाली माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने अब मनपसंद गाना सुनाने का नया फीचर शुरू किया है। ट्विटर पर आप अपने पॉडकास्ट, ऑडिओ क्लिप्स और म्यूजिक को अपनी या किसी की भी टाइमलाइन पर जाकर प्ले कर सकते हैं।

यह सुविधा ट्विटर स्ट्रीम या मोबाइल डिवाइसेज पर उपलब्ध होगी। ट्विटर ने ब्लॉग पोस्ट में जानकारी दी कि दुनिया के सर्वाधिक प्रभावशाली म्यूजिशियन और मीडिया प्रड्यूसर पहले से ही यूनीक ऑडिओ कंटेंट इस साइट के जरिए शेयर कर रहे हैं।

ऐसे में नया फीचर आपको ट्विटर पर सीधे म्यूजिक सुनने का अनुभव कराएगा। ये फीचर ट्विटर ऑडिओ कार्ड पर काम करेगा और एंड्रॉयड और आईओएस, सभी डिवाइसेज पर उपलब्ध होगा।

अब ट्विटर ब्राउज करना और गाना सुनना साथ-साथ हो सकेगा। फिलहाल ट्विटर ने पार्टनर के रूप में बर्लिन आधारित साउंडक्लाउड नाम की ऑडिओ स्ट्रीमिंग सर्विस से गठजोड़ किया है। साउंडक्लाउड से जुड़े संगठनों में नासा, बीबीसी वर्ल्ड सर्विस, वाइट हाउस, डेविड गट्टा और कोल्डप्ले शामिल हैं। ट्विटर ने कहा है कि ये एक तरह से ऑडिओ कार्ड फीचर का टेस्ट रन है, ताकि भविष्य में अरबों फॉलोअर्स को बेहत…

मीडिया कवरेज़ पर उठ रहे सवाल

हमारे प्रधानमन्त्री जी अमेरिका दौरे पर है। आइये कुछ
सच्चाइयों से अवगत कराये।भारतीय मीडिया1. नरेंद्र मोदी जी का भव्य स्वागत किया गया।
* जब कि स्वागत के समय मात्र भारतीय मूल के पांच अफसर
और एक अमेरिकन प्रोटोकॉल उपस्थित थे।2. नरेंद्र मोदी जी के लिए कढ़ी सुरक्षा व्यवस्था।
* जब कि एयरपोर्ट से होटल तक मोदी जी अपनी गाडी से
अमेरिकन सुरक्षा व्यवस्था के बिना ही गए। कोई भी अमेरिकन
पुलिस की मोटर साइकिल नहीं थी।3. मोदी जी का अमेरिकन वासियो ने आथित्य स्वागत किया।
* जब की अमेरिका दौरे का पूरा खर्च भारत ने किया। उनके ठहरने
तक का खर्चा भारतीय दूतावास ने उठाया।4. आइये देखे वहाँ के लोग और वहाँ के अखबार क्या कहते है।
* न्यू यॉर्क टाइम्स में उनके आने का उल्लेख तक नहीं है। 2002
के दंगो के कारण वहा की कोर्ट द्वारा सम्मन दिए जाने का विवरण
है।
* वाशिंगटन पोस्ट ने उनका मज़ाक उड़ाते हुए लिखा है -
"India’s Modi begins rock star-like U.S. tour" ,
यानि हमारे प्रधानमंत्री की तुलना वहाँ के नाचने - गाने वालों से
की है।* वाशिंगटन पोस्ट ने यह भी लिखा है की भारत के प्रधानमंत्री के
अमेरिका दौरे से कोई भी महत्तवपूर…

Inspiring Story— मछुआरा और बिजनैसमैन

एक बार एक मछुआरा समुद्र किनारे आराम से छांवमें बैठकर शांति से बैठा था । अचानक एक बिजनैसमैन ( कंप्यूटर/ आईटी फील्ड वाला ) वहाँ से गुजरा और उसने मछुआरे से पूछा "तुम काम करने के बजाय आराम क्यों फरमा रहे हो?"

इस पर गरीब मछुआरे ने कहा "मैने आज के लिये पर्याप्त मछलियाँ पकड चुका हूँ ।"

यह सुनकर बिज़नेसमैन गुस्से में आकर बोला" यहाँ बैठकर समय बर्बाद करने से बेहतर है कि तुम क्यों ना और मछलियाँ पकडो ।"

मछुआरे ने पूछा "और मछलियाँ पकडने से क्या होगा ?"

बिज़नेसमैन : उन्हे बेंचकर तुम और ज्यादा पैसे कमा सकते हो और एक बडी बोट भी ले सकते हो ।

मछुआरा :- उससे क्या होगा ?

बिज़नेसमैन :- उससे तुम समुद्र में और दूर तक जाकर और मछलियाँ पकड सकते हो और ज्यादा पैसे कमा सकते हो ।

मछुआरा :- "उससे क्या होगा ?"

बिज़नेसमैन : "तुम और अधिक बोट खरीद सकते हो और कर्मचारी रखकर और अधिक पैसे कमा सकते हो ।"

मछुआरा : "उससे क्या होगा ?"

बिज़नेसमैन : "उससे तुम मेरी तरह अमीर बिज़नेसमैन बन जाओगे ।"

मछुआरा :- "उससे क्या होगा ?"

बिज़नेसमैन : "अरे बेवकूफ उसस…