मी​डिया को लेकर, जो AAP ने कहा, क्या झूठ है जरा बताएं ?

अपने विवादित बयानों से घिरे अरविंद केजरीवाल के बचाव में आम आदमी पार्टी ने मीडिया के खिलाफ सीधा मोर्चा खोल दिया है। शुक्रवार को आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में प्रवक्ताओं की फौज के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस की और मीडिया पर हमला बोला। पार्टी के प्रवक्ता मीडिया को धमकी देने वाले केजरीवाल के बयान को सही ठहराने की कोशिश करते नजर आए, तो साथ ही कुछ न्यूज चैनलों पर केजरीवाल के खिलाफ मुहिम चलाने का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग में शिकायत की धमकी भी दी। गौरतलब है कि केजरीवाल ने गुरुवार रात नागपुर में पार्टी के एक कार्यक्रम में मीडियावालों को जेल भेजने की धमकी दी थी,हालांकि बाद में वह अपने बयान से पलट गए थे।

दिल्ली में शुक्रवार को आम आदमी पार्टी अपने चार बड़े चेहरों संजय सिंह, आशुतोष, आशीष खेतान, दिलीप पांडे के साथ मीडिया के सामने आई। आप नेता संजय सिंह ने केजरीवाल के विवादित बयान पर कहा कि मीडिया पर सवाल उठाना गलत नहीं है। उन्होंने न्यूज चैनलों इंडिया टीवी, इंडिया न्यूज, जी न्यूज, टाइम्स नाउ का नाम लेते हुए आरोप लगाया कि यह आम आदमी पार्टी और केजरीवाल के खिलाफ मुहिम चलाए हुए हैं। संजय सिंह ने कहा कि पार्टी के पास इन चैनलों की फुटेज है और वे इसके खिलाफ चुनाव आयोग जाएंगे।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में आम आदमी पार्टी के नेता संवाददाताओं से उलझते रहे। आम आदमी पार्टी (AAP) के प्रवक्ता और चांदनी चौक से पार्टी के प्रत्याशी आशुतोष ने केजरीवाल के मीडिया सेटिंग-गेटिंग वाले विडियो पर सफाई देते हुए कहा कि एडिटर का नेता के साथ बैठना कोई गुनाह नहीं है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ होने के नाते मीडिया की जिम्मेदारी है कि वह सही खबरों को दिखाए।

आशुतोष ने कहा कि अरविंद केजरीवाल का साफतौर पर कहना है कि मीडिया और न्यूज चैनलों का एक तबका मोदी का एजेंडा चला रहा है। इसकी जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पत्रकारों के बीच में एक बड़ा तबका ईमानदार भी है। उनका मानना है कि आने वाले दिनों में काम करना मुश्किल होने जा रहा है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद पार्टी के नेता और नई दिल्ली पार्टी के उम्मीदवार आशीष खेतान ने भी मीडिया पर हमला बोलते हुए कहा कि मीडिया अरविंद केजरीवाल के पीछे पड़ा है। उन्होंने कहा कि आप के नाम पर चैनलों में खाली कुर्सी रख दी जाती है। 'नमो नमो' चलाया जाता है। जबकि नरेंद्र मोदी के विकास के दावों पर एक भी सवाल नहीं पूछा जाता है। गुजरात की सच्चाई नहीं दिखाई जाती है। अरविंद केजरीवाल जब लाइव बैठते हैं, तो उनसे सारे सवाल पूछे जाते हैं, लेकिन मोदी से पब्लिक से जुड़े सवाल नहीं पूछे जाते हैं।

Popular posts from this blog

वो रुका नहीं, झुका नहीं, और बन गया अत्ताउल्‍ला खान

पेंटी, बरा और सोच

'XXX' से घातक है 'PPP'

और तो कुछ पता नहीं, लेकिन लोकतंत्र ख़तरे में है

सावधान। एमएलएम बिजनस से

आज तक टीवी एंकरिंग सर्टिफिकेट कोर्स, सिर्फ 3950 रुपए में

नित्यानंद सेक्स स्केंडल के बहाने कुछ और बातें